मूंछ को लेकर दो महाशक्तियों में तनाव, राजदूत ने अब किया क्लीनशेव

बॉलीवुड में एक चर्चित संवाद हैं, मूछें हो तो नत्थूलाल जी जैसी. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि किसी राजदूत की मूंछों से 2 देशों के सैन्य संबंधों में बिगाड़ की भावना उत्पन्न हो सकता है. अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच मूंछ तनाव का कारण बन गई है.

आखिरकार विवाद खत्म करते हुए अमेरिकी राजदूत ने अपनी मूछें कुर्बान कर दी है. यह मामला दक्षिण कोरिया का है,  जहां अमेरिकी राजदूत हैरी हैरिस की क्लीन सेव करा लेने के बाद उम्मीद की जा रही थी कि मूंछ को लेकर जारी विवाद थम जाए.

दक्षिण कोरिया और अमेरिका के बीच सैन्य संबंध हैं. जनवरी के महीने में कोरियाई प्रायद्वीप में जारी तनाव के बीच राजधानी सियोल में तैनात अमेरिकी राजदूत हैरी हैरिस के मूछों का मुद्दा राजनीतिक रूप से संवेदनशील हो गया था.

अमेरिकी राजदूत पर यह आरोप है कि उन्होंने अपनी मूछें एक खास अंदाज में रखकर में मेजबानों का अपमान किया है. आपको बता दें हैरिस की मूछों का अंदाज औपनिवेशिक दौर में सभी आठ जापानी गवर्नर जनरल की मूछों जैसा था. साल 1910 से 1945 तक कोरियाई प्रायद्वीप पर जापान ने शासन किया है.

उस वक्त 8 गवर्नर जनरल तैनात थे. तब से जापान को लेकर आज भी दक्षिण कोरिया में बेहद गुस्सा है उस दौर के जर्नल जैसी मुछे कोरिया को पसंद नहीं हैं. दक्षिण अफ्रीका और अमेरिका के बीच विवाद के केंद्र में हैरिस रहे.

यहां तक उनकी मूंछ भी विवाद की केंद्र में आ गई हैं. पिछले सप्ताह अमेरिकी राजदूत ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो अपलोड किया जिसमें उन्हें एक पारंपरिक कोरियाई सलून में क्लीनशेव होते हुए देखा जा सकता है. हैरिस ने कहा कि सियोल की गर्मियों में में मॉक्स पहनने में समस्या आ रही थी. इसलिए उन्होंने क्लीन शेव कराने का फैसला किया है.

ये भी पढ़े-

लखनऊ: लॉकडाउन के दौरान बढ़े घरेलू हिंसा के मामले, साइबर क्राइम में भी इजाफा

कुशीनगर: शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी बने केन्द्रीय संस्कृति मंत्रालय के लाइब्रेरी वोर्ड के सदस्य

बीईंग माइंडफुल पत्रिका से… इमारतों में, कला में, साहित्य में और जिंदगी में अनुपात होना चाहिए

 

सोशल मीडिया पर लगातार Hindi News अपडेट पाने के लिए आप हमसें FacebookTwitterInstagram समेत You tube चैनल पर भी जुड़ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here