पेट फूलता की समस्या है तो किशमिश खायें

kismish

अमेरिकन जर्नल ऑफ गैस्ट्रोएंटरोलजी में रिपोर्ट में यह पाया गया है की कब्ज में पेट फूलने की समस्या होती है, तो इसके लिए किशमिश लाभदायक होगी। इस अध्ययन के शोधकर्ताओं के अनुसार इस जठरांत्र की स्थिति पेट की परेशानी, दर्द और सूजन, मलाशय की तकलीफ, हार्ड स्टूल, पेट फूलना आदि होती है। बहुत कम लोग कब्ज का इलाज कराने के लिए डॉक्टर के पास जाते हैं।

त्रिफला
इसमें तीन फल होते हैं-आंवला, हरितकी और विभीतकी। यह एक बेहतरीन औषधि है। यह पाचन और मल त्याग को विनियमित करने में मदद करता है। आप या तो गर्म पानी के साथ एक चम्मच ले सकते हैं या बिस्तर पर जाने से पहले या सुबह खाली पेट त्रिफला पाउडर को शहद के साथ मिलाकर खा सकते हैं।

किशमिश
किशमिश फाइबर से भरी होती है और यह एक प्राकृतिक रेचक औषधि के रूप में कार्य करते हैं। यह उपाय दवा के दुष्प्रभावों के बिना, गर्भवतियों के लिए भी अद‌्भुत काम करता है। किशमिश खाने के और भी लाभ हैं। रात भर एक मुट्ठी पानी में भिगोएं। सुबह खाली पेट इन्हें सेवन करें। पानी को भी पी जाएं।

अंजीर
सूखे या पके अंजीर फाइबर से भरे होते हैं और यह एक प्राकृतिक रेचक के रूप में कार्य करते हैं। कब्ज से राहत के लिए, एक गिलास दूध में कुछ अंजीर उबालें, इस मिश्रण को रात को सोने से पहले पिएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here