दिल के दौरे और हार्टअटैक रोकने के लिए ये दवा होगी विकसित

जिससे आगे चलकर हार्ट अटैक होने की आशंका बढ़ जाती है। यह एक लाइलाज स्थिति है। इस दवा को विकसित करने वाले कनाडा के गुलेफ विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं का कहना है कि दवा दिल में जख्म बनने से रोकती है और मरीजों के लिए जीवन भर हृदय संबंधी दवाएं लेने की जरूरत को खत्म करेगी। ऐसे में ये दवा दिल के दौरे और हार्ट अटैक में मददगार साबित होगी।

Health insurance in america US International News Today

वैज्ञानिकों ने एक ऐसी संभावित दवा विकसित की है, जो दिल के दौरे का इलाज करने और हार्ट अटैक से बचाने में कारगर है। इन दोनों ही स्थितियों के लिए फिलहाल कोई उपचार मौजूद नहीं है। एक स्टडी में पाया गया कि दिल का दौरा पड़ने से हृदय में सूजन बढ़ जाती है और दिल में एक जख्म बन जाता है, यही धीरे-धीरे यह एक गंभीर समस्या बनती है।

जिससे आगे चलकर हार्ट अटैक होने की आशंका बढ़ जाती है। यह एक लाइलाज स्थिति है। इस दवा को विकसित करने वाले कनाडा के गुलेफ विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं का कहना है कि दवा दिल में जख्म बनने से रोकती है और मरीजों के लिए जीवन भर हृदय संबंधी दवाएं लेने की जरूरत को खत्म करेगी। ऐसे में ये दवा दिल के दौरे और हार्ट अटैक में मददगार साबित होगी।

शोधकर्ताओं ने आगे कहा कि यह दवा सर्कैडीअन रिदम कहे जाने वाले हमारे शरीर के प्राकृतिक समय-चक्र के आधार पर काम करती है। यह स्टडी ‘नेचर कम्युनिकेशन्स बायोलॉजी’ पत्रिका में प्रकाशित छपी है। अगर ये दवा पूर्ण रूप से विकसित हो जाती है तो लाखों लोगों के लिए वरदान से कही कम न होगा। भारत में ही हर साल दिल के दौरे और हार्ट अटैक से लाखों लोगो की मौत होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here